img14


 अगले महीने 2 जून को भारतीय टीम  को इंग्लैड दौरे पर जाना है। जहां उसे न्यूजीलैंड के खिलाफ वर्ल्ड टेस्ट चौंपियनशिप का फाइनल खेलना है। वहीं यह मुकाबला इंग्लैंड के साउथैम्पटन में 18 से 22 जून के बीच खेला जाना है। इसके साथ ही भारतीय टीम को अगस्त-सितंबर में इग्लैंड के खिलाफ 5 मैचों की टेस्ट सीरीज खेलनी है। हालांकि भारतीय टीम के लिए इंग्लैंड दौरा कभी आसान नहीं रहा। चाहे वो खिलाड़ी हो या टीम दोनों का ही प्रदर्शन इंग्लैंड की सरजमीन पर अच्छा नहीं है। भारतीय टीम ने यहां 62 मैच खेले हैं जिसमें उसे 7 टेस्ट में जीत हासिल हुई है जबकि 34 में हार का सामना करना पड़ा है। भारतीय टीम के कई दिग्गज खिलाड़ी है जिनके टेस्ट क्रिकेट करियर पर इंग्लैंड की जमीन पर ब्रेक लगा है।
दिनेश कार्तिक
बात करें दिनेश कार्तिक की तो 35 साल के विकेटकीपर बल्लेबाज ने भारतीय टीम की ओर से 26 टेस्ट खेले हैं। और 25 की औसत से 1025 रन भी बनाए हैं। इसके साथ ही एक शतक और 7 अर्धशतक जड़ा है। दिनेश कार्तिक ने अपना आखिरी टेस्ट अगस्त 2018 में इंग्लैंड में ही खेला। साथ ही 94 वनडे और 32 टी20 भी खेले हैं। वहीं अगस्त-सितंबर 2018 में दिनेश कार्तिक को इंग्लैंड में दो टेस्ट खेलने का मौका मिला। जहां 4 पारियों में से 3 बार भी वे दहाई के आंकड़े तक नहीं पहुंच सके। साथ ही उनका 20 रन उच्चतम स्कोर रहा है। और 4 पारियों में उन्होंने 21 रन बनाए।
एस श्रीसंतः 
तेज गेंदबाज एस श्रीसंत ने भारतीय टीम की ओर से 27 टेस्ट, 53 वनडे और 10 टी20 खेले हैं। श्रीसंत ने अंतिम टेस्ट अगस्त 2011 को इंग्लैंड के खिलाफ ओवल में खेला था। हालांकि 2013 में स्पॉट फिक्सिंग में नाम आने के बाद श्रीसंत पर बैन लग गया था।फिलहाल वह फिर से घरेलू क्रिकेट खेलने लगे हैं। उन्होंने अपने करियर में 27 टेस्ट में 38 की औसत से 87 विकेट लिए हैं। तीन बार पांच और चार बार चार विकेट लेने का कारनामा भी किया है। जुलाई-अगस्त 2011 में इंग्लैंड दौरे पर उन्हें 3 टेस्ट खेलने का मौका मिला। जहां उन्होंने 8 विकेट चटकाए। इसके बाद से उन्हें टेस्ट टीम में जगह नहीं मिली।
शिखर धवनः
 भारतीय टीम के ओपनर बल्लेबाज शिखर धवन लिमिटेड ओवर के अच्छे बल्लेबाज माने जाते हैं। कोरोना के कारण आईपीएल 2021 को स्थगित कर दिया गया है।
 लेकिन सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी की बात की जाए तो धवन टॉप पर हैं। उन्होंने 34 टेस्ट खेले हैं। 7 शतक और 5 अर्धशतक भी लगाए हैं। 35 साल के इस बल्लेबाज के टेस्ट करियर पर ब्रेक इंग्लैंड दौरे पर ही लगा। उन्होंने 34 टेस्ट में 41 की औसत से 2315 रन बनाए हैं। धवन जुलाई में श्रीलंका दौरे पर जाने वाली टीम के कप्तान बनाए जा सकते हैं।
वहीं अगस्त-सितंबर 2018 में इंग्लैंड दौरे पर शिखर धवन को 4 टेस्ट में खेलने का मौका मिला था। 8 पारियों में वे एक भी अर्धशतक नहीं लगा सके। उनका 44 रन सबसे बड़ा स्कोर रहा। 8 पारियों में 162 रन बनाने वाले धवन इंग्लैंड में ओवल मैदान पर 7 सितंबर को अंतिम टेस्ट में खेलने उतरे। जिसमें उन्होंने 3 और 1 रन बनाए, इसके बाद अब तक वे टेस्ट टीम से बाहर हैं। टीम को पांच मैचों की टेस्ट सीरीज में 1-4 से हार मिली थी।
आरपी सिंहः
 बाएं हाथ के तेज गेंदबाज आरपी सिंह ने भारतीय टीम की ओर से 14 टेस्ट, 58 वनडे और 10 टी20 खेले। आरपी सिंह 2007 में टी20 वर्ल्ड कप जीतने वाली भारतीय टीम के सदस्य थे। टेस्ट में 42 की औसत से 40 विकेट लेने वाले इस तेज गेंदबाज को अगस्त 2011 को इंग्लैंड दौरे के बाद टेस्ट टीम में जगह नहीं मिली। अगस्त 2011 में आरपी सिंह को ओवल में इंग्लैंड के खिलाफ एक टेस्ट में मौका मिला। उन्होंने 34 ओवर गेंदबाजी की और एक भी विकेट नहीं ले सके।