img14

परिधि समाचार सलमान युसूफ की रिपोर्ट मुरादाबाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुरादाबाद में विपक्षी दलों पर जमकर हमला बोला। केंद्र और प्रदेश सरकार की योजनाओं का उदाहरण देते हुए कहा कि किसान और मजदूर कभी जिनके एजेंडे में नहीं रहे, वे आज किसानों को बरगला रहे हैं। प्रदेश सरकार सबसे ज्यादा किसानों लिए फिक्रमंद है लेकिन कुछ ताकते उनका लाभ नहीं चाहतीं। मुख्यमंत्री ने बुद्धि विहार के मैदान में श्रमिकों के 2754 बेटे-बेटियों के सामूहिक विवाह के अवसर पर उन्होंने आशीर्वाद दिया। साथ ही 183 करोड़ की 48 परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास भी किया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने करीब तीस मिनट के उद्बोधन में विपक्षियों पर हमला भी बोला और सरकार के काम भी बताए। कहा, प्रदेश सरकार ईमानदारी से सभी के लिए काम कर रही है। अगर हमें किसानों की चिंता न होती तो उनके खाते में छह हजार सालाना न पहुंचते। न ही ऋण माफ हो पाते और न ही फसल बीमा का लाभ मिलता। सरकार अन्नदाता को खुशहाल देखना चाहती है लेकिन कुछ लोगों को यह बात नहीं पच रही है। जो बीच में लाभार्थियों का पैसा हजम कर जाते थे, उन्हें ही पीड़ा हो रही है। मुख्यमंत्री ने कहा सौभाग्य की बात है यहां 2754 जोड़ों का विवाह संपन्न हो रहा है। इसमें पांच-पांच मंत्री मेजबान हैं। अफसरों ने खुद इस आयोजन के कार्ड बांटे हैं। योगी आदित्यनाथ ने ने संबोधन के पहले 183 करोड़ की योजनाओं का शिलान्यास और लोपार्कण मंच से बटन दबा कर किया। सरकार ने बदली सूबे की छवि मुख्यमंत्री ने कहा कि 2014 से पहले सरकारों की भूमिका किसी से छिपी नहीं है। भाजपा सरकार ने देश-दुनिया में प्रदेश की छवि बदली है। जनधन खाते नहीं होते तो महिलाओं, मजदूरों कामगारों, पेंशनधारकों को लाभ नहीं मिल पाता। तकनीक की मदद से आम आदमी की केंद्र सरकार ने बनाया है। इसी का परिणाम है कोरोना जैसी महामारी पर जीत मिली है। जापान जैसे सक्षम देश से पहले भारत ने वैक्सीन बनाने में सफलता पाई। देश के प्रतिभावान वैज्ञानिकों ने यह कर दिखाया। यही नए भारत की तस्वीर है। हर हाथ को काम, हर खेत को पानी और भूखे को भोजन देंगे मुख्यमंत्री ने कहा कि हम लोगो ने तय किया है कि किसी को भूखा नहीं सोने देंगे। हर हाथ को काम और हर खेत को पानी के साथ हर भूखे को भोजन भी देंगे। पच्चीस मार्च को लॉक डाउन के बाद श्रमिक मजदूरों समेत 54 लाख परिवारों को भत्ता सरकार ने दिया है।